दिल्ली के प्राचीन हनुमान मंदिर की 6 रहसमयी बाते।

दिल्ली के इस प्राचीन हनुमान मंदिर के बारे में शायद ही आप यह 6 बाते जानते होंगे जो काफी काम लोगो को पता है।

06

इस प्राचीन मंदिर की स्तथप्ने किसी और ने नहीं बल्कि पांडवो ने ही की थी।

05

यहाँ पर हर शनिवार को मंगलवार को भक्तो का बड़ा तांता लगता है, मनोकामनाएं पूरी होने की वजह से इस मंदिर में भक्त देश विदेश से भी आते है।

04

इस मंदिर का नाम गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बुक में भी दर्ज है क्युकी यहाँ पर बिना रुके 24 घंटे मंत्रो का उच्चारण होता रहता है। 1 अगस्त 1964 से आज तक लगातार " श्री राम जय राम जय जय राम " का जाप चलता आ रहा है।

03

इसकी इमारत आम्बेर के राजा मानसिंघ ने प्रथम सम्राठ अकबर के शासन काल में बनाई थी।

02

ऐसा माना जाता है की संत तुलसी दास जी ने अपनी दिल्ली यात्रा के दौरान बालस्वरूप हनुमान जी के दर्शन किये थे और कहा जाता है की उन्होंने यही बैठकर हनुमान चालीसा लिखी थी।

01

तुलसीदास जी के चमत्कार दिखाने के बाद अकबर ने मंदिर के शिखर पर इस्लामिक चन्द्रमा और किरीट कलश समर्पित किया जिसके बाद कभी भी मुस्लिम आक्रमणकारियों ने इस मंदिर पर हमला नहीं किया।

हमारे और भी वेब स्टोरीज को देखने के लिए नीचे दिये हुए लिंक पर क्लिक करे